Home Trending Videos Photos

रेलवे स्टेशन पर जनरल टिकट बेचने की जिम्मेदारी बुकिंग क्लर्क की जगह निजी कर्मचारियों को

भारतीय रेलवे ने यात्री सुविधा और स्टेशन की व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के लिए प्राइवेट हाथों में सौंपने की योजना बना रहा है। रेलवे अब स्टेशन पर जनरल टिकट बेचने की जिम्मेदारी बुकिंग क्लर्क की जगह निजी कर्मचारियों को देने की तैयारी कर रहा है।

रेलवे स्टेशन पर जनरल टिकट बेचने की जिम्मेदारी बुकिंग क्लर्क की जगह निजी कर्मचारियों को
Source: Google

रेलवे की तरफ से मुख्य रेल मार्ग में आने वाले हाल्ट रेलवे स्टेशनों पर यह व्यवस्था शुरू कर दी गयी है। जनरल टिकट बेचने की जिम्मेदारी कम से कम 10वीं पास लोगों की दी जाएगी। इसके अलावा वह स्टेशन से जुड़े शहर या गांव का रहने वाला हो सकता है।

जनरल टिकट बेचने पर रेलवे की तरफ से इन लोगों को टिकट की ब्रिकी के मुताबिक कमीशन मिलेगा। टिकट की ब्रिकी बढ़ने के साथ ही कमीशन की राशि कम होती चली जाएगी। रेलवे की तरफ से निजी कर्मचारियों को सिर्फ प्रिंट कराकर टिकट दिया जाएगा, बाकी व्यवस्था उन्हें खुद करनी होगी।

जितना वेतन उतना काम नहीं

रेलवे स्टेशन पर जनरल टिकट बेचने की जिम्मेदारी बुकिंग क्लर्क की जगह निजी कर्मचारियों को
Source: Google

हर स्टेशन में टिकट काउंटर होते है और उसमे एक स्टाफ को तैनात किया जाता है। पर फिर भी विवाद होते रहते है। टिकट बनाने में देरी होती है और ज्यादा समय लगता है। रेलवे इस सिस्टम को सुधारना चाहता है।

निजी कर्मी जितना ज्यादा टिकट बेचेंगे कमीशन उतना कम होगा। 15 हजार तक पर 15 प्रतिशत, 50 से 1 लाख तक पर 9 प्रतिशत, 1 से 2 लाख तक पर 6 प्रतिशत, 2 लाख से अधिक मिलेगा।

स्टेशन में जो जगह टिकट बेचने के लिए रेलवे की तरफ से मिलेगी उसकी खुद ही सफाई करनी होगी। प्रारंभिक तौर पर एक शख्स को 5 साल के लिए जिम्मेदारी दी जाएगी।

Read Also -   सोसाइटी ऑफ रियोलॉजी के फेलो की उपलब्धि पाने वाले पहले भारतीय बने IIT Kanpur के प्रोफेसर योगेश एम जोशी
Share your love