Home Trending Videos Photos

जूते-कपडे बेचने को मजबूर ICC का अनुभवी अंपायर, की थी 107 International मैचो में अम्पायरिंग

एक पाकिस्तानी अंपायर जिसे कई इंटरनेशनल मैचों में अम्पायरिंग करते बार बार देखा जाता था। कई बड़े-बड़े मैचों में उसने अंपायरिंग की थी, लेकिन आज ऐसी स्थिति है कि उस International अंपायर को अपनी ज़िंदगी को ढंग से चलाने के लिए दुकान में बैठना पड़ रहा है, ये अंपायर है Asad Rauf, पाकिस्तान के बहुत ही ज्यादा मशहूर लांदा बाजार में जूते और कपड़ों की दुकान को चला रहे हैं।

जूते-कपडे बेचने को मजबूर icc का अनुभवी अंपायर, की थी 107 international मैचो में अम्पायरिंग
Source: Google

2000 से 2013 तक 107 इंटरनेशनल मैचों में अंपायरिंग करने वाले Asad Rauf को किसी कारण से बैन कर दिया गया था। Asad अपने समय में ICC के एलिट पैनल के सदस्य हुआ करते थे और उन्होंने World Cup, IPL में भी अंपायरिंग की है। पर अब उनका क्रिकेट से कोई सरोकार नहीं है।

ये मेरे लिए नहीं, असद ने कहा

जूते-कपडे बेचने को मजबूर icc का अनुभवी अंपायर, की थी 107 international मैचो में अम्पायरिंग
Source: Google

असद ने पाकिस्तान टीवी को अपने दिए इंटरव्यू में बताया, “ये मेरे लिए नहीं है. ये मेरे स्टाफ के डेली वेजेस के लिए है. मैं उनके लिए काम करता हूं, मैंने अपने जीवन में कई मैचों में अंपायरिंग की पर अब मुझे कोई देखने वाला नहीं। मैं 2013 से खेल से दूर हूं क्योंकि एक बार जो काम मैं छोड़ देता हूं तो पूरी तरह से छोड़ देता हूं।”

बैन होने का कारण क्या था ?

जूते-कपडे बेचने को मजबूर icc का अनुभवी अंपायर, की थी 107 international मैचो में अम्पायरिंग
Source: Google

Asad Rauf को BCCI ने 2016 में बैन कर दिया था, क्योंकि वे भ्रष्टाचार में लिप्त पाए गए थे। उनका नाम IPL 2013 स्पॉट फिक्सिंग स्कैंडल में आया था, उन पर सट्टेबाजों से तोहफे लेने के आरोप लगे और राउफ पर साथ ही एक मॉडल ने यौन उत्पीड़न के आरोप भी लगाए थे। मुंबई की इस मॉडल ने बताया कि राउफ ने उनसे शादी करने का वादा किया पर बाद में अपनी बात से मुकर गए।

Read Also -   Ranji Trophy के फाइनल में याद आये के.एल.राहुल, मध्यप्रदेश के यश दुबे ने लगाया शतक
Share your love