Hartalika Teej 2022: जाने तीज मानाने का कारण, खा सकते ये फूड्स साथ ही जाने शुभ मुहर्त और मंत्र

Hartalika Teej 2022: हरतालिका तीज में भगवान भोले नाथ और माता पार्वती की पूजा की जाती है। ऐसी मान्यता है की माता पार्वती ने भगवान शंकर को पाने के लिए ये व्रत किया था। इसलिए महिलाये आज के दिन अपने पति के लम्बी उम्र के लिए यह निर्जला व्रत रखती है,और कुंवारी कन्याएं अच्छा वर मिलने के लिए ये व्रत रखती है।

उपवास के बाद खा सकती है ये फूड्स –

  • खीरा : खीरा एक एंटीऑक्सिडेंट वाला फल है, इसे आप ऐसे ही या फिर इसका जूस बना कर के सेवन कर सकते है। इसमें विटामिन के साथ पौष्टिक तत्व होते है जो मनुष्य को लाभ पहुंचते है। खीरा एक उचित विकल्प हो सकता है।
  • अनार : अनार एक ऐसा फल है जो हर मौसम में उपलब्ध हो जाता है ये सेहत के हिसाब बेहद लाभकारी है इसमें प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स विटामिन C ,E और K होते है जो मनुष्य के स्वास्थ के लिए अच्छा है।
  • नारियल पानी : नारियल पानी अपने को हाइड्रेट रखता है। भले ही आज निर्जला (बिना पानी के व्रत) हो लेकिन अन्य दिनों में ये काफी मददगार साबित हो सकता है। आपकी प्रतिरक्षा करेंगे और साथ ही एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करते हैं
  • कीवी, आंवला, हरा नींबू: अगर आप इन फलो का सेवन करते है तो आपको प्रचुर मात्रा में विटामिन सी मिलता है। जिससे आपकी ऊर्जा बनाये रखने में मदद मिलती है।
  •  हरा सेब: हरा सेब को आप हलवा खीर बना ले या फिर ऐसे ही खा सकते है इसमें क्त परिसंचरण में सुधार करने, अच्छी दृष्टि को बढ़ावा देने, हड्डियों को मजबूत करने और वजन घटाने में मदद कर सकता है।
  • नाशपाती, अमरूद: नाशपाती और अमरुद आपके लिए परफेक्ट है ये पोषक तत्वों से भरपूर है। फाइबर का अच्छा स्रोत होने के अलावा, नाशपाती विटामिन सी और के, साथ ही पोटेशियम और एंटीऑक्सीडेंट में भी उच्च होती है। वे आंत के स्वास्थ्य के लिए भी विशेष रूप से अच्छे हैं, और वे आपको नियमित रखने में भी मदद कर सकते है
ये भी पढ़े -   अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022: ये 7 तरीके योगाभ्यास के समय जरूर याद रखे

हरतालिका तीज पूजा का शुभ मुहूर्त

तीज शुभ मुहर्त सुबह : सुबह 06 बजकर 12 मिनट से 08 बजकर 42 मिनट तक

तीज शुभ मुहर्त प्रदोष काल : बह 6 बजकर 42 मिनट से दोपहर 03 बजकर 33 मिनट तक

तीज शुभ मुहर्त शाम : शाम 6 बजकर 33 मिनट से रात 8 बजकर 51 मिनट

हरतालिका तीज पर करे इन मंत्रो का जाप

मस्त्यै शिवायै शर्वाण्यै सौभाग्यं संतति शुभा।

प्रयच्छ भक्तियुक्तानां नारीणां हरवल्लभे।

ओम गणेशाय नम:

ओम नम: शिवाय

या देवी सर्वभूतेषु मां गौरी रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

Advertisement