Home Trending Videos Photos

Education Loan: लेने से पहले रखे इन बातो का ध्यान

साहिल अमेरिका से बिज़नेस स्कूल से MBA कर रहा है। पर विदेश में रह कर पढ़ाई करना इतना आसान नहीं होता। हाल के दिनों में कोरोना महामारी के कारण घर से पैसे भीआना कम हो गए, इसके लिए साहिल ने बैंक से लोन लेने का सोचा पर ये इतना भी आसान नहीं, कई सारे बैंको के पास गए। पर नहीं मिल पाया। इसके लिए कुछ बाते जानते है जो हमारे काम आएगी।

Education loan: लेने से पहले रखे इन बातो का ध्यान
Source: Google

एजुकेशन लोन में क्या-क्या खर्च कवर

ट्यूशन फीस, रहने का खर्च, हेल्थ इंश्योरेंस और पढ़ाई का सामान एजुकेशन लोन के तहत कवर करते हैं. उदाहरण के लिए, बैंक ऑफ बड़ौदा में ये सभी खर्च प्रोजेक्ट कॉस्ट के तहत आते हैं. इसके अलावा हवाई किराया, लैपटॉप की कीमत, स्टेशनरी और कोर्स को पूरा करने के लिए कोई दूसरे खर्च इसके तहत आते हैं. बैंक किसी भी विषय की बाहरी कोचिंग को एजुकेशन लोन के तहत कवर नहीं करता है।

कहा से मिल सकता है लोन ?

सरकारी बैंक को चुन सकता है, जहां उसे कम ब्याज दर और NBFCs और फिनटेक की तुलना में आसान नियम और शर्तें मिलेंगी. उदाहरण के लिए, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI), कैनरा बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा के एजुकेशन लोन पर ब्याज दर क्रमश: 7.25 फीसदी, 7.30 फीसदी और 7.45 फीसदी है. जबकि, निजी बैंक जैसे ICICI बैंक और एक्सिस बैंक में एजुकेशन लोन पर 10.50 फीसदी और 13.70 फीसदी की दर से ब्याज है।

विदेशी कंपनी लोन देती है

विदेश में आधारित संस्थानों से भी लोन लिया जा सकता है। वहां, उन्हें अपनी फीस के लिए 100 फीसदी फाइनेंस मिल जाता है, इसके अलावा कोलेटरल या किसी को-ऐप्लीकेंट की जरूरत भी नहीं पड़ती है, हालांकि, व्यक्ति को एजुकेशन लोन के लिए अप्लाई करने से पहले संस्थान की प्रतिष्ठा और विश्वसनीयता के बारे में जान लेना जरूरी है। ऐसे कई बैंक हैं, जिनकी प्रतिष्ठा नहीं है, वे छात्रों को गुमराह कर सकते हैं, इसलिए उनके बारे में रिसर्च कर लेना जरूरी है।

Read Also -   नए Traffic नियम के साथ जाने चालान देने की सुविधा, कैसे कर सकते है पेमेंट आएये जाने

Share your love